इश्क़ मोहब्बत शायरी..

 ना जाने मुहब्बत में कितने अफसाने बन जाते है,

शमां जिसको भी जलाती है, वो परवाने बन जाते है।

कुछ हासिल करना ही इश्क कि मंजिल नही होती,

किसी को खोकर भी, कुछ लोग दिवाने बन जाते है।

love shayari, romantic shayari, romance shayari



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां