मजबूर हूँ कितना....

ऐ बेवफा थाम ले मुझको मजबूर हूँ कितना 
मुझको सजा न दे मैं बेकसूर हूँ कितना , 
तेरी बेवफ़ाई ने कर दिया है मुझे पागल , 
और लोग कहतें हैं मैं मगरूर हूँ  कितना ।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां